Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Sunday, 3 September 2017

Didi Ke Sath Lesbian Vala Khel



दोस्तो, मेरा नाम सविता है, मैं आज आपको मेरी सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ.
मेरी हाईट 5’5″ है, मेरा साइज़ 34-30-34 का है जो कुदरत की देन है. मुझे अपनी इस बदन पर बहुत नाज़ है.

मेरी फॅमिली में पापा-मॉम, भैया-भाभी, दीदी और मैं हैं.

बात उन दिनों की है जबी भैया की शादी हो रही थी. घर पर अच्छा माहौल बना था. मैं और मेरी दीदी किरण जो पूरी मेरे जैसी है, हाईट, वेट साइज़ फ़ीगर सब सेम है, हम दोनों बहनें हैं इस वजह से मॉम डैड के एक जैसे जींस हमारे अंदर हैं इसलिए ऐसा हुआ है कि हम एक जैसी हैं.

शादी वाले दिन सुबह ज़ब सब तैयार हो रहे थे, मैं और मेरी दीदी भी तैयार होने बाथरूम गई.
दीदी अपना तौलिया भूल गई तो वो वापस लेने गई. इतने में मैंने अपना टीशर्ट और लोअर उतारा, मैं सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी.

ये भी पढ़े : दीदी की चुदाई दास्ता से मेरी चूत गरम हुई

इतने में दीदी आ गई दरवाज़ा खोल कर…
मैंने कहा- दीदी, दरवाज़ा तो बंद कर दो. कोई मुझे ऐसे देख लेगा तो अच्छा नहीं लगेगा!

दीदी ने दरवाज़ा बंद कर दिया और मुझे घूरने लगी.
मैंने कहा- क्या हो गया दीदी? आप मुझे ऐसे क्यूँ देख रही हो?
दीदी मुस्कुराती हुई बोली- मैं अपनी सविता को देख रही हूँ जो पता नहीं कब जवान हो गई!
मैं मुस्कुरा दी.

दीदी बोली- तेरे दूध तो ब्रा के अंदर से ही मेरे दिल को लुभा रहे हैं, ज़रा दिखा तो?
मैं शर्मा गई क्योंकि मुझे अपनी चुची की तारीफ सुनना अच्छा लगता है.

दीदी ने अपना एक हाथ मेरी चुची पर रखा और ब्रा से बाहर निकाल दिया और अपना मुख मेरे निप्पल पर ले जा कर चाटने लगी.
मुझे कुछ अलग सा महसूस हुआ कि कुछ अच्छा हो रहा है. मैंने अपनी ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा उतार का फेंक दी.

अब दीदी अपने दोनों हाथों से मेरे दूध मसल रही थी और अपने मुंह से चूम रही थी, मेरे दूध को पीने की कोशिश कर रही थी.
मैं उम्म्म्माआ आआआहह की आवाज़ निकाल रही थी.

मैं चाहती तो नहीं थी आवाज़ करना… पर हो रहा था… कैसा लग रहा था कि क्या बताऊँ?

दीदी ने मेरी पेंटी उतार दी और मेरी बुर में उंगली घुसा दी. मैं तड़प गई, मैंने दीदी को कहा- मत करो ना दीदी!
पर दीदी रुक नहीं रही थी. मेरे कमसिन बुर में उंगली ज़ोर ज़ोर से घुसा रही थी और चुची चूस कर मज़े ले रही थी.

मैं उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउफ्फ़ कर रही थी… मुझे भी मज़ा आने लगा तो मैंने भी दीदी के कपड़े उतार दिए और पूरी नंगी कर दिया. मैं भी दीदी की चुची दबाने लगी और उनकी बुर में उंगली करने लगी.
फिर दीदी को पता नहीं क्या हुआ, वो मेरे होंठों को चूमने लगी.
मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

8-10 मिनट किस करने के बाद दीदी मेरी प्यासी गीली बुर को चाटने लगी, मैं उम्म्म्म आआहह दीदी… आहह और करो… आआअहह आहह उम्म्म्मममाआहह… करने लगी.
मैं इतने ज्यादा जोश में थी कि मैं जल्दी झड़ गई. मैंने अपना सारा पानी दीदी के मुंह में गिरा दिया.

दीदी ने कहा- अभी लेट हो रहे हैं, फिर मौका मिलेगा तो करेंगे!

और उसके बाद हम नहा धोकर तैयार होकर शादी में चले गये.

अब मैं और दीदी जबी भी मौक़ा मिलता है, नंगी होकर एक दूसरी की बुर में उंगली से, चाट कर, चुची मसल कर, चूस कर यानि हर तरह से लेस्बियन सेक्स का मजा करती हैं.
Continue Reading »

Tuesday, 15 August 2017

लिंग को बड़ा लम्बा और मोटा करने के उपाय

आजकल के बहुत से पुरुषों की एक ही problem होती है, लिंग का छोटा होना या लिंग का पतला होना। हर पुरुष अपने लिंग को बड़ा, लम्बा और मोटा करना चाहता है जिससे उसके partner के ऊपर उसका अच्छा impression बैठे। सम्भोग के दौरान लिंग की size का छोटा होना पुरुषों में हीन भावना पैदा करता है, उन्हें लगता है कि उनकी partner उन्हें कमजोर या नामर्द समझेंगी। यदि आप भी इस समस्या से ग्रसित हैं तो चिंता न करें, बस नीचे दिए कुछ आसान उपायों को अपनाएं –

लिंग को बड़ा, लम्बा और मोटा करने के उपाय

Smoking छोड़ दें

नियंतर सिगरेट या बीडी पीने से हमारे फेफड़ों के pores block होने लगते हैं जिससे पर्याप्त oxygen खून तक नहीं पहुँच पाती। खून में oxygen कि कमी के कारन यह अंगों तक पर्याप्त oxygen नहीं पहुंचा पाता और अंगों की काम करने की क्षमता में कमी आने लगती है। इसका सबसे ज्यादा बुरा असर लिंग पर होता है। इसलिए smoking करना छोड़ दें।

नियमित Exercise करें

नियमित exercise करने से muscles मजबूत रहती हैं और मोटापा control में रहता है। इसके साथ ही रोजाना exercise करने से लिंग का छोटापन भी दूर होता है। Exercise करने से blood circulation increase होता है जिससे लिंग को पर्याप्त मात्रा में blood मिलता है और वह धीरे-धीरे अधिक बढ़ने लगता है।

High Calorie Foods न खाएं

ज्यादा fat और कैलोरी वाले खाने से दिल की बीमारी होने का खतरा तो रहता ही है साथ में लिंग के कमजोर और छोटे होने का खतरा रहता है। अधिक तेलिय युक्त भोजन का सेवन करने से और physical work कम करने से खून में cholesterol level बढ़ जाता है । यह अतिरिक्त cholesterol नसों में जमा होने लगता है और blood circulation को block करने लगता है। इससे लिंग को भी पर्याप्त खून नहीं मिल पाता। इसलिए मोटे और healthy लिंग के लिए junk food और तला भुना खाना बंद कर दें।

ज्यादा सब्जियों और फलों का सेवन करें

Anti-oxidant युक्त फल और सब्जियों का अधिक सेवन करें। यह नसों में मौजूद free radicals से लड़ते हैं और blood circulation को उन्नत करते हैं। इसलिए anti-oxidant युक्त फलों और सब्जियों का सेवन करके आप अपने लिंग को स्वस्थ और मजबूत बना सकते है और उसकी size को increase कर सकते हैं।

पेट का Fat कम करें

ज्यादा भरी-भरकम पेट होने से लिंग छोटा लगने लगता है, भले ही फिर वह बड़ा ही क्यों न हो। पेट की चर्बी अधिक होने से सम्भोग सुख का भी पूरा आनंद नहीं मिल पाता, इसलिए अपने पेट की चर्बी को कम करने की कोशिश करें। इसके लिए आप dieting, exercise और योगा का सहारा ले सकते हैं।

तनाव (Stress) कम करें

एक research के अनुसार जो पुरुष अत्यधिक तनाव लेटे हैं उनमें सम्भोग की उत्तेजना कम हो जाती है जिससे लिंग का size भी अपनी natural size से छोटा होने लगता है। तनाव की स्थिति में खून लिंग से वापस लौट जाता है जिससे उत्तेजना में कमी और sex के प्रति उदासीनता पैदा होती है। Performance का डर भी लिंग के छोटे होने का मुख्य कारन होता है।

Meditation करें

बहतर sex life के लिए meditation और योग करिए। नियमित meditation और योग करने से body में blood circulation बढ़ता है और दिमाग से stress कम होता है।

Body को Warm Up करिए

कम temperature penis की size को कम करता है। इसलिए शरीर को गर्म रखने के लिए warm shower लीजिये। इससे शरीर में खून का प्रभाह भी बहतर होगा और लिंग भी मोटा और बड़ा हो जायेगा।

लिंग को बढ़ाने (Penis Enlargement) के Scientific उपाय

सम्भोग सुख प्राप्त करने में penis का आकार एक important role अदा करता है, इसलिए penis enlargement की सोच हर sexy दिमाग में होती है। कुछ इंच लिंग की size बढ़ाने की इसी सोच का फायदा उठाकर कई कंपनियां market में दवा, oil आदि निकालती हैं। लेकिन उनमें से ज्यादातर दवाएं या oil नाकाम ही साबित होती हैं।
इसमें कोई संदेह नहीं है कि बड़ा लिंग होने पर पुरुषों में मानसिक रूप से confidence बढ़ता है और लिंग छोटा होने पर self confidence बिलकुल नीचे गिर जाता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए कुछ कारगर scientific उपाय नीचे दिए गए हैं जिन्हें आप doctor की सलाह से अपना सकते है –

Surgery द्वारा

सर्जरी के द्वारा लिंग का आकार बढ़ाना एक सबसे आसान तरीका है, जिसमें आपको ज्यादा महनत भी नहीं करनी पड़ेगी। Surgery का प्रयोग आमतौर पर चोट लगने या जन्म दोष से छोटे हुए लिंग पर किया जाता है। लेकिन अब कुछ शौक़ीन लोग इस surgery का लाभ sex आनंद को बढ़ाने के लिए भी करते हैं।
आपको बता दें penis का आकार बढ़ाने के लिए होने वाली surgery 2 रूपों में होती है – एक लिंग को लम्बा करने के लिए और दूसरी लिंग को मोटा करने के लिए। यदि आप भी surgery करवाना चाहते हैं तो किसी अच्छे specialist से ही संपर्क करें क्योंकि इसमें काफी complications होते हैं और यदि आपका operation unsuccessful रहता है तो आपको sex से related कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।
Surgery हमेशा जोखिम तो रहता ही है। इसलिए बड़े से बड़ा doctor पहले ही surgery के complications के बारे में बता देता है। इसलिए surgery करवाने से पहले प्रत्येक procedures के बारे में doctor से खुलकर बात करने के बाद ही कोई फैसला लें।

doctor की Advice से लें Tablets, cream और Oil

Advertisements में चमत्कार का वादा देख कर या पढ़ कर बाजार से medicine, cream और oil खरीदने पर अधिकतर लोगों को निराशा ही हाथ लगती है। लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि लिंग का size बड़ा करने वाली सब दवाएं और तेल बेकार हैं। अगर आप doctor की सलाह लेकर उचित medicine लेटे हैं तो आपको फायदा जरुर होगा।

Equipment की help से

एक बड़े size का लिंग प्राप्त करने में कुछ equipment वास्तव में काम करते हैं जिनका लाभ पुरुष ले रहे हैं। इन equipment में vacuum pump, hydro pump, extenders मुख्य हैं और इसका प्रयोग किसी अच्छे doctor की advice लेकर करना चाहिए।
इन equipment की help से लिंग stretch होता है जिससे धीरे-धीरे उसकी size लम्बी हो जाती है।
Equipment की Help लेने में होने वाले Risks – वैसे तो daily 20 मिनट तक ही लिंग पर इन equipment का प्रयोग किया जाता है लेकिन इसका अति प्रयोग या व्यक्ति के स्वास्थ्य का ध्यान न रखते हुए इसका प्रयोग किया जाये तो इससे ओने वाले खतरे increase हो जाते हैं। इसके अलावा इनके प्रयोग से permanent tissues पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

लिंग का size बढ़ाने वाली exercise (लिंग को बड़ा करने के Exercise)

छोटे लिंग का size बड़ा करने के लिए यदि आप exercises की help लेना चाहते हैं तो आपको अपने penis को perfect stretch देना होगा। Large penis का dream देख रहे लोगों को चाहिए कि वो अपने penis को चारों तरफ से stretch करें। आप इस प्रक्रिया को रोजाना 10-15 minutes तक दोहराएँ। इसके आलावा अप O-shape बनाकर हाथों से बराबर stretch कर सकते हैं।

लिंग की लम्बाई बढ़ाने के Extra उपाय

  • आप लिंग के blood circulation को उचित करने के लिए अंगूठे की मदद से लिंग के निचले हिस्से पर pressure डालते हुए ऊपर की ओर ले जाएँ। यह प्रक्रिया रोजाना 15-20 बार करने से आपका blood circulation ठीक होगा।
  • penis का रक्त संचार ठीक करने के लिए आप गर्म पानी में तौलिया भिगोकर मालिश कर सकते हैं।
  • अपनी life में योग और meditation को भी शामिल करें। रोजाना कपालभाती प्राणायाम जरुर करें।
  • मोटापा पर काबू करने से भी लाभ मिलेगा।
  • उचित मात्रा में पानी पियें और भोजन में zinc, omega-3 fatty acids और विटामिन B-6 युक्त पदार्थों को शामिल करें।
  • healthy, कम तनाव वाली और smoking रहित lifestyle लिंग की लम्बाई बढ़ाने के सपने को जल्दी पूरा करेगी। इसलिए अपनी lifestyle को अधिक healthy और sporty बनायें।

ध्यान रखें

  • ज्यादातर penis का छोटा होना inherited (पारिवारिक) होता है, इसलिए इसके छोटा होने पर कभी भी मानसिक रूप से stress न लें।
  • एक research के अनुसार महिलायों को संतुष्ट करने के मामले में लिंग का छोटा होना कोई मायने नहीं रखता। Doctors का कहना है कि महिलायों की योनी छोटे लिंग को सुविधानुसार adapt कर लेती है।
  • कोई भी medicine, oil आदि का प्रयोग करने से पहले अपने doctor से advice जरुर ले ताकि आपको पता चल सके कि इनसे कोई side effects तो नहीं होगा।
Continue Reading »

Monday, 14 August 2017

भाई के सामने बहन की ग्रुप में चुदाई

मैं राज गर्ग एक बार फिर से हाज़िर हूँ नई कहानी लेकर जिसमें भाई ने बहन को चोदा!

दोस्तो, माफी चाहूँगा स्टोरी देर से लिखने के लिए… आपको तो पता है आजकल टाइम निकलना कितनी बड़ी बात है.
अभी मैं आपको अपनी एक नई स्टोरी के साथ!

जैसा कि आप सभी जानते हो कि मेरा वाइफ स्वैपिंग क्लब है जिसमें बहुत सारे कपल हैं जो वाइफ स्वैपिंग का मज़ा लेते हैं. आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
कुंवारी चूत चुदाई का आनन्दमयी खेल-1

दोस्तो, आपको याद होगा कि मैंने आपसे पिछली स्टोरी में आप लोगों से एक सलाह माँगी थी जिसके जवाब में मेरे पास बहुत सारी मेल आई, उन मेल में बहुत सारे सुझाव भी आए. आप सभी के सुझाव और आप आपके इस प्यार के लिए मैं आप सभी को दिल से धन्यवाद करता हूँ.


चलो दोस्तो, मैं आपका अधिक वक़्त ना खराब करते हुए सीधे कहानी पर आता हूँ!

जैसा आपने मेरी एक कहानी >> सगे भाई बहन ग्रुप सेक्स के खेल में

में पढ़ा कि अग्रवाल साहब अपनी बहन पूजा गोयल को क्लब में देखकर काफ़ी हैरान हुए थे. तो हम लोगों के सामने एक गंभीर समस्या आ गई थी कि कैसे पूजा और अग्रवाल भाई बहन होते हुए सेक्स कर सकते हैं तो जैसे ही आप लोगों के सुझाव को ध्यान रखते हुए मिस पूजा गोयल ने अपने भाई के सामने एक शर्त रखी- आप मेरे भाई हैं लेकिन मैं आपके साथ बेइंसाफी नहीं कर सकती हूँ कि आप मुझे ना छुएं! मैं घर पर आपकी बहन हूँ, लेकिन यहाँ आप चाहो तो मुझे आप अपनी वाइफ भी बना सकते हो! लेकिन घर पर मैं आपकी बहन ही रहूँगी.
अग्रवाल साहब हाँ बोले!

पड़ोस की लड़की की कुँवारी चूत ली 

सबने अपने अपने जाम उठाए और पूजा के नाम लगाए. पहला जाम लगते ही पूजा बोली- इस खेल की शुरुआत मैं करूँगी अपने भाई की वाइफ बन कर!
और पूजा जल्दी से अपने भाई का लंड अपने मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी.
अग्रवाल साहब पूजा का सिर पकड़ कर अपने लंड पर दबाने लगे और बोले- ले चूस ले अपने भाई का लंड… उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकाल दे इसका सारा माल अपने मुँह में!

पूजा ने उनका लंड 8-10 मिनट तक चूसा और उनका पानी निकाल दिया, सारा माल खुद पी गई.
फिर पूजा ने अपने भाई को बोला- भाई जी, आओ अब तुम्हारी बारी है मेरी फाड़ने की… देखती हूँ कितना दम है मेरे भाई के लंड में!

कुछ देर मेहनत करके पूजा ने फिर से अपने भाई का लंड खडा किया और अग्रवाल ने अपना लंड अपनी बहन की फुद्दी में उतार दिया एक ही झटके में!
पूजा तो ऐसे उछली कि मानो जैसे लंड फुद्दी में नहीं गांड में डाल दिया हो! पूजा ने एकदम लंड को निकाल दिया अपनी फुद्दी से… बोली- भाई, आराम से डालो… आपकी बहन की नाजुक सी फुद्दी है, और मैं भाग थोड़े रही हूँ!
तो अग्रवाल मज़े लेते हुए बोला- पता चल गया कि तुम्हारे भाई के लंड में कितना दम है?
पूजा बोली- हाँ, पता चल गया! आराम से डालो और मारो मेरी फुद्दी!

गाण्ड मेरी पटाखा बहन बानू की (Gaand Meri Patakha Bahan Banu ki)

फिर से अग्रवाल साहब ने लंड अपनी बहन की चूत में डाला और दस मिनट तक लगातार बिना रुके बहन को चोदा और अपनी बहन पूजा को झड़वा दिया.
फिर अग्रवाल साहब ने बोला- मेरा भी होने वाला है पूजा, बोलो माल अंदर डालूं या मुँह में लोगी?
पूजा बोली- मुँह में लूँगी!
यह बोल कर उसने अपना मुख खोल दिया और अग्रवाल ने अपना लंड उसमें घुसा दिया. पूजा उनका सारा माल पी गई. आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
मेरे बहन गुड्डी के चूत में डाला (Mere Behen Guddi Ke Chut mein dala)

फिर सबने बारी बारी पूजा की चूत की ठुकाई की, पूरी रात उसकी फुद्दी के मज़े लिए और सुबह सब अपने अपने घर निकल गये.
लेकिन जाते जाते पूजा ने अग्रवाल साहब का एक बार फिर लंड चूसा और माल पिया, बोली- मेरी शर्त याद रखना!
तो अग्रवाल साहब बोले- ठीक है!

दोस्तो, आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी जिसमें एक भाई ने बहन को चोदा? मुझे मेल करके ज़रूर बतायें, मुझे आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा.
आज की और भी मजेदार कहानियां पढ़े....बस यह पर क्लिक करें...
Continue Reading »

सगे भाई बहन ग्रुप सेक्स के खेल में

मैं राज गर्ग दिल्ली रहता हूँ और अपने बिज़नस के अलावा मेरा एक छोटा सा स्विंगर्स क्लब यानि वाइफ़ स्वैपिंग क्लब भी है। हम अपने क्लब में जब मीटिंग करते हैं तो, सभी क्लब मेम्बर्स आपस में अपने अपने पति और पत्नी बदल कर सेक्स करते हैं।
मेरे अलावा 4-5 कपल्स और हैं, हम सब एक साथ बैठते हैं, बातें करते हैं, खाते पीते हैं, फिर बाद में जिसको जो भी अच्छा लगे या अच्छी लगे, उसके साथ सबके सामने, सबके साथ सेक्स करते हैं।
मेरी बीवी मेरे सामने क्लब के हर एक मेम्बर से सेक्स कर चुकी है और मैं अपनी बीवी के सामने अपने क्लब की हर एक औरत को चोद चुका हूँ। आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
अपनी चूत की जलन का उपचार करवाया (Chut Ki Jalan Ka Upchar Karwaya)

हमारे एक बड़े सम्माननीय क्लब मेम्बर हैं, अग्रवाल साहब… वो मेरी बीवी के बड़े दीवाने हैं, जब भी मौका मिलता है, वो शशि से अगर सेक्स नहीं करते तो अश्लील छेड़छाड़ ज़रूर करते हैं।
और क्लब में इस बात का कोई ऐतराज भी नहीं करता कि बात करते करते अगर आप किसी और की बीवी के कूल्हों पे या चुची पर हाथ फेर रहे हैं, या फिर फिर आपकी बीवी को कोई और मर्द बाहों में लेकर खड़ा है।

औरतें खुल कर अपनी सेक्स फ़ंतासियाँ सबसे डिस्कस कर रही हैं। एक दूसरे से गंदी बातें, गंदे इशारे क्लब में सब जायज़ है।

ऐसे ही एक दिन मुझे एक ईमेल आई, उसमें एक मियां बीवी हमारा क्लब जॉइन करना चाहते थे।
मैंने क्लब का प्रेसिडेंट होने के नाते उनको क्लब के सारे नियम कायदे समझाये, क्लब की फीस बताई, करने और न करने वाली सब बातें समझाई।


अगले दिन दोनों मियां बीवी मुझे मेरे घर पर मिलने आए, हम दोनों पति पत्नी ने उनका स्वागत किया।

थोड़ी औपचारिक बातचीत के बाद मैंने मुद्दे पर आना ठीक समझा और उन दोनों से पूछा- तो जैसा आप जानते हैं कि हमारे क्लब में अपनी अपनी बीवियाँ बदल कर या यूं कहें कि अपने अपने पति बदल कर एक दूसरे के साथ सेक्स किया जाता है, इसमें कोई शर्म लिहाज नहीं किया जाता। आपसे भी कोई आकर पूछ सकता है, क्या मैं आपकी पत्नी या पति से सेक्स कर सकता हूँ/ सकती हूँ। इसमें आप बुरा नहीं मान सकते।
मगर किसी भी क्लब मेम्बर को आप जलील नहीं कर सकते, चाहे उसकी परफॉर्मेंस कैसी भी हो, आप किसी के साथ गाली गलौच या मार पीट भी नहीं कर सकते। सभी मामले सभी ग्रुप मेम्बर्स आपस में बैठ कर सुलझाते हैं।
आपको इस क्लब को जॉइन करने के लिए अपने पूरे होशो हवास में बिना किसी भी दबाव के अपनी रजामंदी देनी होगी, आप क्लब को कभी भी छोड़ सकते हैं, बस एक बार जमा करवाई गई फीस वापिस नहीं मिलेगी।
क्लब छोड़ कर बाहर आप किसी से भी कभी भी इस क्लब के बारे में कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं कह सकते, मतलब क्लब का किसी भी बात में ज़िक्र तक नहीं करेंगे।
तो क्या मैडम आप इस के लिए राज़ी हैं?

हॉस्टल में रापचिक माल चोदा (Hotel Mein Rapchik Maal Choda)

वो बोली- जी, मैं पूरी तरह से राज़ी हूँ।
मैंने फिर पूछा- तो क्या सर आप इसके लिए राज़ी हैं?
मिस्टर गोयल भी बोले- 100 प्रतिशत राज़ी, बस आप यह बताओ कि आप हमें क्लब में कब लेकर जा रहे हो?
मैंने कहा- ले जाएंगे, ले जाएंगे, पहले एक टेस्ट और कर लें!
वो बोले- कर लो!

मैंने पूछा- आप दोनों में से ज़्यादा जेलस कौन है, कौन अपने पार्टनर को किसी दूसरे के साथ देख कर ज़्यादा जलता है?


मिस्टर गोयल- देखिये, मैं तो नहीं जलता मगर मैं किसी और सुंदर सी औरत से बात करूँ तो ये अक्सर इसका बुरा मनाती है।
मैंने कहा- तो मिसेज गोयल यह टेस्ट आपका है।
मेरे इतना कहते ही शशि उठ खड़ी हुई और गोयल साहब के पास जाकर बैठ गई।
उसने गोयल साहब के चेहरे से एक उंगली फिरानी शुरू की और गर्दन से होते, कंधे से नीचे, सीने पे, और फिर पेट से होते उनकी जांघ तक आ गई। आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |

गोयल साहब अपनी आँख बंद करके इसका मजा ले रहे थे- ओह शशि, मजा आ गया, जान, और कर!
वो बोले तो शशि उनके बिल्कुल साथ चिपक कर बैठ गई।
मैं बड़ी बारीकी से मिसेज गोयल के रिएक्शन देख रहा था। अंदर ही अंदर वो जैसे जल रही थी।

फिर शशि ने गोयल साहब का हाथ पकड़ कर अपने चेहरे पे रखा और उनसे वैसे ही करने को कहा।
गोयल साहब ने पहले शशि के चेहरे पे हाथ फेरा, फिर गर्दन और कंधे से होते हुये उसके सीने पर आए, पहले गोयल साहब ने शशि की आँखों में देखा फिर मेरी तरफ और फिर अपनी बीवी की तरफ और फिर हल्के से शशि के स्तन के ऊपर से छूते हुये वो नीचे उसके गोरे पेट पर आ गए।

तब मेरी बीवी ने अपनी साड़ी का पल्लू हटा दिया, अब गहरे गले के उसके ब्लाउज़ से उसका क्लीवेज और ब्लाउज़ के पतले रूबिया कपड़े से उसके ब्रा का सारा डिजाइन भी दिख रहा था।
गोयल साहब ने शशि को देखा, तो उसने इशारे से उन्हें अपने स्तन छूने को कहा।

गोयल साहब ने शशि के एक स्तन पे थोड़ा हिचकिचाते हुए हाथ रखा तो शशि ने उनका हाथ अपने हाथ में पकड़ कर पूरे ज़ोर से अपना स्तन दबवाया, तो मिसेज गोयल ने अपना मुँह फिरा लिया।

मैं उठ कर मिसेज गोयल के पास गया और उनके बिल्कुल पास बैठ कर बोला- देखिये मिसेज गोयल, यह तो अब रूटीन का मैटर होने वाला है, आप सिर्फ देखिये, आपको भी यही सब करना और देखना होगा।

मिसेज गोयल मुझसे बोली- क्या ये सब मैं आपके साथ भी करूंगी?
मैंने कहा- जी, मेरे साथ भी और क्लब के बाकी मेम्बर्स के साथ भी। हम टोटल 10 लोग हैं, आपको मिला कर 12 हो गए। अब जिस दिन आप कपड़े उतारेंगी तो 11 लोग आस पास खड़े आपको देख रहे होंगे, 6 मर्द और 5 औरतें, इसके लिए भी आपको अपना मन पक्का करना पड़ेगा।

कह कर मैंने अपने कपड़े उतारने शुरू किए।
वो चौंक कर बोली- यह क्या कर रहे हैं आप?
मगर मैं अपने कपड़े उतारता गया और बिल्कुल नंगा हो गया, अपना लंड हवा में हिलाता हुआ बोला- तो मिसेज गोयल, क्या आप मेरा लंड अपनी चूत में लेना पसंद करेंगी?
कॉलेज की चुदाई वाली मस्ती (College Ki Chudai Bali Masti) 
वो तो एकदम से खड़ी हो गई- यह क्या बकवास है?
वो गुस्से से बोली।
मैंने कहा- आप शांत हो जाइए, इसी बात के लिए तो हम आपको तैयार कर रहे हैं, वहाँ आपसे कोई भी ये सब पूछ सकता है और ये भी हो सकता है कि कोई पूछे भी नहीं और जब आप बिल्कुल नंगी हो तो कोई आए और अपना लंड आपके मुँह या चूत में घुसा दे।

मेरी बात सुनते ही वो बैठ गई- तो क्या मुझे रंडी बनना होगा?
वो थोड़ा तल्खी से बोली।
मैंने कहा- जी नहीं, रंडी नहीं बनना, बस अगर आपके मन में सेक्स के प्रति कोई भी बात है, कोई भी अधूरी इच्छा है, उसे बाहर निकालना है, रंडी नहीं, बस बेशर्म बनना है।
मैंने उसे समझाया।

कुछ देर वो बैठी सोचती रही, दूसरी तरफ शशि और गोयल साहब आपस में बिज़ी थे, गोयल साहब शशि की साड़ी उठा कर अपना हाथ उसकी साड़ी में डाल कर शायद उसकी चूत सहला रहे थे और शशि उनका तना हुआ लंड हाथ में पकड़ कर उम्म्ह… अहह… हय… याह… उनकी मुट्ठ मार रही थी।
कुछ देर मिसेज गोयल ये सब देखती रही, फिर बोली- ओ के, मैं तैयार हूँ, मिस्टर राज, अब आपके किसी भी सवाल, किसी भी बात का मैं जवाब दूँगी।
मैंने कहा- तो नंगी होकर मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसो।
मेरे इतना कहते ही उस औरत ने गजब की फुर्ती दिखाई, 10 सेकंड में अपनी साड़ी, पेटीकोट, ब्लाउज़, ब्रा पेंटी सब उतार फेंके और बिल्कुल नंगी हो कर मेरे पांव के पास बैठ गई, मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और लगी चूसने।

मैंने कहा- मिसेज गोयल, आप तो बड़ी तेज़ निकली?
वो बोली- मेरा नाम पूजा है, और जब मैं एक बार ठान लेती हूँ, तो फिर पीछे नहीं हटती।

उसके बाद हम चारों ने आपस में अपने अपने पार्टनर बदल कर सेक्स किया जिसे गोयल दंपति ने बहुत एंजॉय किया।

अगली मीटिंग में हमने उन्हें आने की दावत दी। मीटिंग हुई शुक्रवार रात की थी। शनिवार को दो कप्ल्ज़ ने कहीं बाहर जाना था, इसलिए शनिवार की जगह शुक्रवार रात की मीटिंग रखी गई।

करीब 7 बजे सब मेम्बर्स इकट्ठे हो गए, बस गोयल साहब और उनकी पत्नी ही नहीं आए थे। वो रास्ते में कहीं जाम में फंस गए थे। हमने अपनी पार्टी शुरू कर दी।

ड्रिंक्स थी, वेज नॉन वेज भी था, हर कोई अपनी पसंद के पार्टनर के साथ बातचीत में मशगूल था। अभी सिर्फ एक दो पेग हुये थे, इस लिए सुरूर कोई ज़्यादा नहीं था मगर मस्ती माहौल में छा चुकी थी।
अपनी चूत की जलन का उपचार करवाया (Chut Ki Jalan Ka Upchar Karwaya) 

हमारे अग्रवाल साहब तो सिर्फ चड्डी पहने घूम रहे थे, मुझसे कई बार पूछ चुके थे- अरे नई चिड़िया आई या नहीं?
मैं उन्हें आश्वासन दे देता- आ रही है।


कोई एक घंटे बाद मिस्टर और मिसेज गोयल पहुंचे। जब वो रूम में दाखिल हुये तो सबने उनका स्वागत किया मगर अग्रवाल साहब तो सन्न रह गए, मुझे एक तरफ ले जा कर बोले- अरे यार, ये तुमने किसको मेम्बर बना दिया?
मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ, वो खुद आए थे मेरे पास, मैंने तो सब कुछ चेक करके ही उनको मेम्बर बनाया है।

वो बोले- अरे यार ये दोनों तो मेरे बहन और बहनोई हैं, मैं इनके साथ कैसे?
उधर गोयल साहब ने भी उनको चड्डी में लंड अकड़ाये घूमते देख लिया था, पूजा गोयल तो मुँह छुपाती फिर रही थी।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
मैंने स्थिति को संभालने के लिए ज़ोर से सब मेम्बर्स को आवाज़ लगाई- मेरे प्यारे ग्रुप मेम्बर्स, आज एक बड़ी विकत स्थिति आ गई है, हमारे नए बने मेम्बर्स मिसेज एंड मिस्टर गोयल हमारे अग्रवाल साहब के रिश्ते में बहन और बहनोई हैं। अब हालात ये हैं कि इन दोनों को आपस में एक दूसरे के सामने आने में दिक्कत हो रही है। अब आप सबसे निवेदन है कि मिल कर फैसला करें कि इस बात का क्या हल निकाला जाए।

सब मेम्बर्स आपस में बातचीत करने लगे। कुछ मेम्बर्स ने सुझाव दिये- या तो मिस्टर अग्रवाल या मिस्टर गोयल ये क्लब छोड़ दें।
मैंने कहा- पर अब तो इनको पता चल गया कि ये लोग इस क्लब के मेम्बर हैं।

दूसरा सुझाव- यहाँ किसी का किसी से कोई रिश्ता नहीं है, सिर्फ मर्द और औरत का रिश्ता है, इसलिए सब एंजॉय करो।
इसका प्रति उत्तर आया- तो जिस दिन राखी आएगी, उस दिन अग्रवाल साहब अपनी बहन से राखी कैसे बंधवायेंगे? आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |

फिर एक तीसरा हल पेश किया गया- अग्रवाल साहब और मिसेज गोयल आपस में सेक्स न करें, अपने भाई और बहन के रिश्ते को कायम रखें, मगर चूंकि इस क्लब में आने मात्र से ही ये दोनों भाई बहन एक दूसरे के सामने नंगे हो चुके हैं, इसलिए इन्हें क्लब की हर क्रिया में भाग लेने की इजाज़त है, बस आपस में ये न करें, और किसी के साथ, कुछ भी करें!

सबने अग्रवाल साहब और पूजा गोयल की तरफ देखा, दोनों के चेहरे भावशून्य थे, वो दोनों यह फैसला नहीं कर पा रहे थे, अगर आपके पास इस बात का कोई हल है तो प्लीज़ बताएं।

Continue Reading »

मेरी माँ की चुदाई की सच्ची कहानी जरुर पढ़े

आप सभी को मेरा प्रणाम.. मैं आपको अपनी माँ की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ वो एक सत्य घटना है। मेरा नाम रोहित है, मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ।

ये बात उस समय की है.. जब गाँव में सरपंच के चुनाव के लिए प्रचार हो रहा था। मेरे पिताजी भी चुनाव लड़ रहे थे। घर के सभी लोग वोट मांगने के लिए पूरे दिन गाँव में घर-घर घूमते।

मेरे पिताजी के साथ-साथ उनका एक दोस्त भी चुनाव में मेरे पिताजी की हेल्प कर रहे थे, जिनका नाम पवन अंकल था। वो दिन में पिताजी के साथ घूमते और रात को देर तक हमारे घर पर ही रहते। कभी-कभी तो घर पर ही सो जाते।

गर्दन के बाद चूत अकड़ गई (Gardan Ke Bad Chut akad gayi)
रसीली चूत में मेरा लवड़ा (Rasili Choot me Mera Lavda) Antarvasna 
सिनेमा की बैक सीट में (Cinema ki Back Seat Mein) Antarvasna 
कॉपी से कुंवारी चूत तक (Copy Se Kuanari Chut Tak)
आजनबी से चुद गयी (Ajnabi Se Chud Gai)
बड़ी गांड बलि आंटी को चोदा (BADI GAND WALI AUNTY KO CHODA)
मेरी बगल की मेहेक से भाई हुआ पागल ( Meri Bagal Kii Mehek Se Bhai Hua Pagal)
19 साल बेहेन की मस्त चुदाई (19 Saal Behan Ki Mast Chudai)
चाचा की लड़की सोनिया की मस्त चूत चुसी (Chacha Ki Ladki Sonia ki Mast chut Choosi)
भाभी और उसकी बेहेन की चुदाई (Bhabhi Aur Uski Behan Ki Chudayi) 
सेक्सी पड़ोसन भाभी की चूत सफाई (Sexy Padosan Bhabhi Ki Chut Safai)
तेरी चूत की चुदाई बहुत याद आई (Teri Chut Bahut Yad Aai)

हमारे घर पर लोग देर रात तक बैठे रहते थे। मैं रात को जल्दी ही सो जाता था क्योंकि मुझे सुबह जल्दी बस पकड़ के कॉलेज जाना होता था।

चुनाव के 2-3 दिन पहले की बात है, मैं हर रोज़ की तरह उस दिन भी जल्दी सो गया था।
जब मैं सोया.. तब पिताजी, पवन अंकल और पड़ोस के कुछ लोग घर के बाहर वाले रूम में बैठकर बातें कर रहे थ। मेरी माँ, जिनकी उम्र 37 साल है.. वो घर का काम कर रही थीं।

मैं आप लोगों को मेरी माँ के बारे में बता दूँ। मेरी माँ का फ़िगर 36-32-38 का है.. उनका नाम सरिता है.. वो घर पर ही रहती हैं। मेरी माँ देखने में बहुत ही सेक्सी हैं। उनके हुस्न के बारे में मेरे दोस्त भी मेरे साथ मजाक करते थे।

उस दिन रात को मैं पेशाब करने के लिए उठा, मैं नींद में था। मैं बाथरूम की तरफ़ गया तो मुझे कुछ आवाज सुनाई दी। चूंकि मैं नींद में था तो मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया। मैं बाथरूम करके आ रहा था तो मेरा ध्यान आवाज की ओर गया।
आवाज सुनने के बाद मुझे लगा कि ये आवाजें माँ के कमरे से आ रही हैं।

मैं माँ के कमरे की तरफ़ गया और खिड़की से अन्दर देखने लगा। अन्दर का नजारा देखकर मैं हैरान रह गया। अन्दर तीन लोग थे, एक मेरी माँ, पवन अंकल और एक पड़ोस का लड़का जिसका नाम राहुल है।

माँ बिस्तर पर घोड़ी बनी हुई थीं और उनकी सलवार घुटनों तक थी। पवन अंकल जीभ से माँ के चूतड़ चाट रहे रहे थे और राहुल माँ के सामने था। माँ ने राहुल का लौड़ा मुँह में लिया हुआ था। माँ की गांड बहुत ही मस्त लग रही थी..
उनकी गांड देख कर मेरा लंड भी खड़ा हो गया था, मैं चुपचाप खिड़की से देख रहा था।

पवन अंकल माँ को बोल रहे थे- सरिता, तेरी गांड बहुत खूबसूरत है.. जी तो करता है पूरी रात तेरी गांड को चाटता ही रहूं।
इतने में राहुल बोला- हाँ पवन.. दिल तो मेरा भी कर रहा है।
माँ ने अपने दोनों चूतड़ हिलाए और बोलीं- तो जल्दी कर लो.. नहीं तो कोई जग गया तो मुश्किल हो जाएगी।
राहुल बोला- भाभी कोई नहीं जागेगा.. रोहित तो दस बजे से सो रहा है और भईया को हम पूरी बोतल दारू की पिला के सुला आए हैं।

मैंने अपना मोबाइल निकाला और वीडियो बनाने लगा। इतने में पवन अंकल ने अपने लौड़े पर थूक लगाया और माँ की गांड के छेद में लगाकर एक झटका मार कर कहा- बोल कितना अन्दर गया सरिता रानी?
माँ थोड़ी दबी आवाज में बोलीं- पता नहीं, खुद ही देख लो।

फ़िर उन्होंने एक और करारा झटका मारा तो माँ के मुँह से ‘आआ.. आह्ह्ह्ह.. माआआ..’ की आवाज आई।

पवन अंकल ने और जोर का झटका मारा तो अबकी बार माँ जोर से चिल्लाईं ‘आह.. मर गईई..’
आगे से राहुल राहुल के अधखुले कच्छे से उसका लौड़ा माँ के मुँह से निकल गया तो माँ ने राहुल का लंड हाथ में ले लिया। पवन अंकल झटके मारते रहे ओर माँ ‘म्मा.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह्ह.. ओफ्फ्..’ करती रहीं।

थोड़ी देर बाद पवन अंकल ने झटके मारने बंद कर दिए और माँ की पीठ पर लेटे रहे।

कुछ देर बाद पवन अंकल उठकर बेड पर लेट गए। पवन अंकल के लेटने के बाद राहुल ने माँ को खड़ा किया और किस करने लगा, माँ भी उसका पूरा साथ दे रही थीं।
थोड़ी देर किस करने के बाद राहुल ने माँ को सीधा लिटा दिया और उनकी सलवार पूरी तरह से निकाल कर फेंक दी। इसके बाद राहुल मेरी माँ की चुत चाटने लगा। मेरी माँ अपने सिर को हिला रही थीं और माँ ने अपने दोनों हाथों को मुठ्ठी जोर से बंद कर रखी थी।

राहुल जीभ से मेरी माँ की चूत चाट रहा था और अपने दोनों हाथों से माँ के बड़े-बड़े चूचे मसल रहा था। थोड़ी देर बाद राहुल ने अपना कच्छा निकाला तो मैं उसका लंड देख कर हैरान रह गया। उसका लंड भुजंग काला बहुत लम्बा और मोटा था।

माँ झट से उठीं और उसके लंड को अपने हाथ में ले कर सहलाने लगीं।

इतने में पवन अंकल उठ गए और माँ ने उनके लंड को भी हाथ में लिया जो कि राहुल के लंड के सामने बिल्कुल नूनी लग रहा था।

राहुल ने माँ को घोड़ी बनाया और खुद भी घोड़े की तरह पीछे लग गया। पवन अंकल ने राहुल का लंड हाथ में लिया और राहुल आगे से उठ कर माँ के ऊपर चढ़ गया।

पवन अंकल ने राहुल का लंड माँ की चूत पर लगा दिया। लंड लग जाने के बाद राहुल थोड़ा माँ के ऊपर को और चढ़ गया जिससे उसका लम्बा लंड का थोड़ा सा हिस्सा माँ की चूत में चला गया।

माँ बहुत जोर से चिल्ला पड़ीं- अह्ह्ह.. उ..ईई.. ऐईईई.. नहीं..
राहुल ने फ़िर झटका दे मारा और उसका आधा लंड मेरी माँ की चूत में घुस गया था। मेरी माँ दर्द की अधिकता से काढ़ते हुए ‘अह्ह्ह..’ कर रही थीं।

तभी राहुल ने एक और झटका मारा तो माँ को बहुत दर्द हुआ.. माँ बहुत जोर से चिल्लाने लगीं और अपनी गांड को हिलाने लगीं, जिससे राहुल का लंड कुछ बाहर को आ गया।

फ़िर राहुल ने पीछे से दोनों हाथों से माँ को पेट के ऊपर से पकड़ लिया और लंड को वापस घुसेड़ कर एक जोरदार झटका लगाया।
माँ फिर से बहुत जोर से चिल्ला पड़ीं- आहइ.. मर गई रे..

उसी वक्त मैंने देखा कि मेरी माँ की चूत से खून निकल कर चादर पर गिर रहा था। राहुल ने शायद खून देख लिया था सो अब वो थोड़ी देर तक आराम-आराम से झटके मारता रहा।

माँ थोड़ी देर में नॉर्मल हुईं.. फ़िर राहुल ने जोर-जोर से झटके मारने शुरू कर दिए।

अब माँ को भी मजा आ रहा था और वो मजे से सीत्कार करते हुए राहुल के हब्शी लंड से चुत चुदाई का मजा लेते हुए ‘अक्ह्ह्ह्ह..’ कर रही थीं।
इसी के साथ मेरी माँ ने अपनी दोनों टांगें भी फैला दीं।

कुछ देर तक करने के बाद राहुल ने अपना लंड बाहर निकाला और अपना सर माल माँ की बड़ी चुचियों पर डाल दिया। फ़िर माँ ने राहुल का लंड पकड़ा और मुँह में लेकर जीभ से चूसने लगीं। फ़िर राहुल ने लंड माँ के मुँह से निकाला और माँ ने अपनी दोनों चुचियों के ऊपर लगा माल उंगली से चाटने लगीं। फ़िर पवन अंकल और राहुल ने कपड़े पहने और मैं जल्दी से अपने कमरे में चला गया।
Continue Reading »

Friday, 14 April 2017

दीदी को बेटे की चाहत

ये कहानी मेरी दिदि की चुदाई की है ।मेेरी दिदि की उम्र 32 साल है ।उनके 2 बच्चे है, दोनों लड़की है ।मेेरी दिदि एकदम मस्त माल हैं ।गोरा बदन, 36 साईज की चुुुचिया ,38 की गाड, 34 की कमर ,गहरी नाभी ।ऐसा की एक बार कोई देेेेख ले तो लंंड बिना खड़ा किए रह नहीं सकता ।मेेरी दिदि हमेेशा गिरा हुुुआ गला का ब्लाउज पहनती हैं ।बात तब की है जब दिदि घर आई थी, एक दिन हमारे घर  पंंडित जी आए, वो हमारे घर में बहुत पहले से पूूूूजा करवाते थे ।
हमारे घर के सभी लोग उनका सम्मान करते थे ।सभी लोग उनसे आशीर्वाद ले रहे थे ।फिर थोड़ी देेेर बाद दिदि उनका पैैैर छुुुके आशीर्वाद लेेेेने के लिए झुुुुकी तो उनका आँचल सड़क गया, जिससे दिदि की चुुची की गहराई को देखकर  पंंडित जी की आँखे चमक उठी ।

फिर कुुुछ देेेर दिदि को देेेेखने के बाद पंंडित जी बोले बेेेेटी तुम्हारे माथे की लकीर बता रही हैं कि तुुम्हे कुुुछ परेेेेसानी हैं ।

 तुम्हारे मन की इच्छा पूूरी नहीं हो रही हैं ।दिदि बोली हा बाबा आप सही कह रहे हैं, दिदि बोली, बाबा मैं क्या करू जिससे मेेरी मन की इच्छा पूरी हो जाएगी ।मैं कुुुछ भी करने को तैैैयार हू ।पंंडित जी बोले , कल तुुुम मेेेरेे आशृृृृम में आ कर मिलो उपाय बतााऊंगा ।और पंंडित जी चले गए ।अगले दिन दिदि तैैैयार होकर बोली, राज जरा आश्रम तक छोड़ दो, मैं दिदि को लेकर आश्रम पहुुँचा, तो वहा पर पंंडित जी अकेले बैैठे हुुुुए थे ।दिदि उन्हें पृृणाम की तब पंंडित जी आशीर्वाद देेेेने के बहाने उनका पिठ सहलाने लगे, तभी उनका नजर मुुझपे पड़ा तो अपना हाथ हटा लिये, और बोले बेेेेटी अंंदर चलो, अंंदर चलकर बाते करते हैं ।तब दिदि बोली राज तुुुुम बाहर बैैठो मैं थोड़ी देर में आती हूूँ ।मैं बोला ठीक है दिदि ।दिदि पंंडित जी के साथ अंंदर चली गई।बाहर से कुुुछ दिखाई नहीं दे रहा था बस आवाजें आ रही थी ।तो मैं ध्यान से सुुुननेे लगा ।पंंडित जी बोले ,बताओं क्या परेसानी है, तो दिदि बोली बाबा मुुझे 2 लड़कियाँ हैं बस मुझे एक बेेटा चाहिए ।तब पंंडित जी बोले इसके लिए तम्हें तन और मन से  पूूजा करनी होगी ।

ये भी पढ़े: नयी नहीं मजेदार चुदाई की कहानियां एक बार जरुर पढ़े माजा ना आये तो बोलना

मैं तमसे जो पुुुछू उसका जबाब सच सच देेेना ।पंंडित जी ने दिदि को कुुुछ दिया, बोले खा जाओ दिदि उसे खा गई ।थोड़ी ही देर में दिदि को नसा सा छाने लगा ।पंंडित जी ने दिदि से पूूूूछा ,तुुुुम्हरा मासिक समय पर आता है की नहीं, तब दिदि बोली आता है बाबा,अभी तो 5 रोज पहले खत्म हुुुआ हैं ।तब बाबा बोले तुुम्हारे अंंदर  बेेेटा वाला बीज डालना होगा।तब दिदि बोली डालिए न।तब बाबा ने दिदि की ब्लाउज को खोल दिया और दिदि की चुुुची को दबाने लगे, और दिदि से पूछा कैैसा लग रहा है,दिदि बोली अच्छा लग  रहा है ।फिर पंंडित जी ने दिदि को नंंगा कर दिया और उनके बुुुर को चुसने लगा ।थोड़ी देर बाद दिदि बोली मुझसे अब रहा नहीं जाता ।तो पंंडित जी ने दिदि की टागेेेे चौरी की और एक ही बार में पूूरा 11 इंच का लंंड दिदि की बुुुर मै घुुसा दिया दिदि कराह उठी ।पंंडित जी ने दिदि को पूूूरे 30 मिनट तक चोदा ।और बोले पूूूरे 9 दिन आना ।बेेेटा जरूूूर होगा।
Continue Reading »

Maa or Bahan ki Ek Sath Chudai



hello dosto mera naam ravi hai or me aapni aachi ghatna batane jaa raha ho eye ghatna us wakat ki hai jab me garmi ki chuti me ghar aaya tha mere maa or bahan ghar me akele hi rahte the mere maa ki umar 39 or bahan ki 23 year hai or mera umar 19 year ho raha hai ek din jab me subha utha to mujhe joor se pesab laga tha me batheroom me pesab karne gaya to jo waha dekha to heran hi rah gaya ek baat batadu me aapni maa ko pahle se hi buri najar se dekhta tha or meri maa bhi jaanti thi ki me kiya karna chahta tha to mene batheroom me jo dekha ki maa aapni chut me ugali kar rahi thi mene dekha to mene soch ki me to yahi chaah raha tha kiyuki ek do baar maa ko esi harkat karte dekh liya tha par muka par pahuch nahi pata tha us din mujhe moka mila or maa mujhe dekh kar sarma gai par me nahi sarmaya or maa ki sar par hath rakh kar sar sahlane laga maa boli aaj nahi beta aaj nahi to mene kaha kiyu maa booli abhi dard ho raha hai raat me mene maa ki baat maan liya par ek sart rakha fir maa se boola maa ek sart hai maa booli kesa sart mene kaha me aapki chut chatna chahta hu or boobs ko
aapni hatho se maslna chahta hu maa maan gai fir mene maa ko batheroom me leta kar muh maa ki chut ke paas le gaya or jiv se maa ki chut chatne laga or ek hath se maa ki boobs masal raha tha ese karib 5 min chala uske baad jab hum ek dusre se lipte hue the tab aachank se meri didi aa gai or dekh kar sarma gai or turan waha se bhag gai mene maa se kaha maa aap didi ko samjhana maa boole beta tum chinta mat karo me use bhi me use aapne sath usko bhi chudwane ko kahugi me maa ki muh se ye baat sunre hi ki didi ki bhi hum se hi chudwaegi to me maa ke hot ko turan jabran kiss kar diya hum log ko didi ke bare me baat karte 1 ghanta ho gaya tha fir maa kapdhe pahan kar didi ki paas gai me batheroom me hi rah gaya maa didi se puchi beti tum kab aai to didi booli maa jab aap or ravi dono lange ek dusare me chipke hue the tab mene sab dekh liya maa aap etani gandi ho mene kab sapne me bhi nahi soch tha maa booli nahi beti tum galat samjh rahi ho hai me galati ki lekin tumhare papa ke gujar jane ke baad aaj tak mene kisi se esa nahi karwaya hai tum bhi to ek orat ho tum to jaanti ho orate sex ke mamle me sabse aage hoti hai to didi booli maa ravi aapka beta hai or aap usi se maa booli beti tumhara boyfriend hai didi booli nahi tumne kabhi aapni chut me kisika land liya hai didi booli nahi maa kahi ki tabhi tum meri bhawana ko nahi samjh paa rahi hai maa booli beti tum eye baat kisi ke paas nahi kahna to didi ne kaha ek sart par nahi kahuga maa booli me bhi aapke sath sex karugi maa kahi haa kiyu nahi karo fir maa or didi puri lanagi ho gai didi ke boobs pura tait tha gand maa ki gand se bhi didi ka badha tha maa or didi 69 ki position me hoge or ek dusare ki chut chatne lage esa lagbhag 25min tak chalta raha fir me kapdha pahan kar batheroom se nikal kar aapne room chala gaya or maa or didi naha kar bazar chale gaye me becheni se raat kaa intejar kar raha tha kuch der ke baad raat ho gai maa or didi karib10 baje raat me mere room me aai fir dono mere bed par let gai fir maa booli ravi pahle aapni didi ko chod fir baad me mujhe chudna mene maa ki baat maan kar didi ki kapdhe utarne laga didi aakhe band kar le mene didi ko langa kar diya udar maa bhi langa ho gai fir maa mera 8 inc ka land muh me le kar chusne lagi or me didi ki chut ko chatne laga didi pahli baar sex karwa rahi thi maa bool beta ab mera chut chato or didi tumhari land legi maa ka chut chatne laga didi mera land chatne lagi
Continue Reading »